हम अपने सभी पाठकों को तथ्य व आकड़ों के आधार पर पूर्ण सत्य के साथ खबरें देना पसंद करते हैं। सत्यकेतन समाचार

सत्यकेतन समाचार के व्हाट्सअप ग्रुप में जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Chinese App Ban in India: टिकटॉक समेत भारत ने 59 चाइनीज मोबाइल एप पर लगाया प्रतिबंध

टिकटॉक समेत 59 मोबाइल एप पर प्रतिबंध

नई दिल्ली, सत्यकेतन समाचार: भारत चीन तनाव के बीच सरकार ने टिकटॉक समेत 59 मोबाइल एप पर प्रतिबंध लगा दिया है। भारत सरकार की इस सूची में यूसी ब्राउजर भी शामिल है और कई अन्य मोबाइल एप भी हैं। भारत सरकार ने पूर्वी लद्दाख की गलवन घाटी में हिंसक झड़प के बाद वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर उपजे बेहद तनावपूर्ण माहौल के बीच भारत ने सोमवार को यह बड़ा कदम उठाया है। चीन के जिन एप पर रोक लगाई गई है उनमें शेयरइट, यूसी ब्राउजर, एमआइ कम्यूनिटी एप आदि शामिल हैं। मोदी सरकार का चीन के खिलाफ इसे बड़ा कदम माना जा रहा है।

सरकार द्वारा इन 59 चाइनीज एप पर लगाया गया प्रतिबंध

भारत सरकार द्वारा चीनी एप पर प्रतिबंध

– भारत सरकार द्वारा 59 चीनी एप पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद स्‍वदेशी जागरण मंच ने इसका स्‍वागत करते हुए कहा है कि यह मोदी सरकार का बहुत ही बेहतर कदम है। मंच के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख दीपक शर्मा ने कहा कि स्‍वदेशी जागरण मंच सरकार के इस कदम का स्‍वागत करता है। इसके साथ ही उन्‍होंने देश की जनता का धन्‍यवाद किया। जनता ने स्‍वदेशी स्‍वावलंबन अभियान के अंतर्गत सहयोग का हाथ बढ़ाया है।

– भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने चाइनीज एप की एक लिस्ट तैयार कर केंद्र सरकार से अपील की थी इनको बैन किया जाए या फिर लोगों को कहा जाए कि इनको तुरंत अपने मोबाइल से हटा दें। इसके पीछे दलील ये दी गई थी कि चीन भारतीय डेटा हैक कर सकता है।

– आईटी मिनिस्ट्री ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि हमें कई रिप्रजेंटेशन्स के जरिए इन ऐप्स के इस्तेमाल के बाद डाटा सिक्युरिटी और प्राइवेसी का खतरा था, जिसके बाद इन ऐप्स को ब्लॉक करने का फैसला किया गया है।

बता दें कि पिछले दिनों गलवन घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच हुई खूनी झढ़प के बाद देश में चीन के सामानों का विरोध हो रहा था। सोशल मीडिया में boycott chinese app का ट्रेंड चल रहा था। वहीं, अब भारत सरकार ने चीनी एप पर प्रतिबंध लगा दिया है।

हालांकि चीन के इन 59 एप्स पर प्रतिबंध का फैसला ऐसे वक्त में लिया गया है जब कल दोनों देशों के बीच कोर कमांडर स्तर की तीसरे दौर की बैठक लद्दाख के चुशूल में होने जा रही है। खास बात ये है कि ये मीटिंग इस बार भारत के बुलावे पर हो रही है। इससे पहले दोनों मीटिंग चीन के आमंत्रण पर आयोजित की गई थीं।

देसी कंपनियां लॉन्च कर रहीं अपने एप

वहीं, दूसरी ओर चीनी एप पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद इनकी जगह अब देसी कंपनियां अपने एप ला रही हैं और लोग उसे दिल खोलकर गले लगा रहे हैं। इन दिनों चीन के टिकटॉक के जवाब में चिंगारी नामक एप गूगल प्ले स्टोर पर धूम मचा रहा है। इस एप को 25 लाख लोग डाउनलोड कर चुके हैं। इसे डाउनलोड करने वालों में मशहूर भारतीय उद्यमी आनंद महिंद्रा भी शामिल हैं। अपने ट्वीट में महिंद्रा ने लिखा हैं, मैंने कभी टिकटॉक डाउनलोड नहीं किया, लेकिन अभी-अभी मैंने चिंगारी को डाउनलोड किया है।

चिंगारी एप बिल्कुल टिकटॉक की तरह है जो कई क्षेत्रिय भाषा में है। गूगल प्ले स्टोर पर चिंगारी एप को 4.6 की रेटिंग दी गई है। इस एप के लिए रोजाना 10,000 लोग इंटरटेनमेंट कंटेंट तैयार करते हैं। न्यूज फीचर्स भी इस एप में दिए गए हैं। टिकटॉक को मुकाबला देने के लिए भारतीय आईटी प्रोफेशनल की तरफ से मित्रों एप तैयार किया गया था। लांच के मात्र दो महीने में इस एप को एक करोड़ से अधिक लोग डाउनलोड कर चुके हैं।

About arti sisodia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »