हम अपने सभी पाठकों को तथ्य व आकड़ों के आधार पर पूर्ण सत्य के साथ खबरें देना पसंद करते हैं। सत्यकेतन समाचार

सत्यकेतन समाचार के व्हाट्सअप ग्रुप में जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

IIT Delhi ने दुनिया की सबसे सस्ती कोरोना किट भारत में लॉन्च की, तीन घंटे में रिजल्ट

IIT Delhi corona kit Corosure
Image source google

IIT Delhi corona kit: देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे है. हजारों की संख्या में रोजाना मामले बढ़ रहे है. बिहार में तो फिर से लॉकडाउन लग गया है. कोरोना टेस्टिंग फ़ीस भी ज्यादा है. गरीब आदमी इतना महंगा टेस्ट कराने में असमर्थ है. लेकिन अब IIT दिल्ली ने एक नई टेस्टिंग किट को लॉन्च किया है, जल्द ही ये टेस्टिंग किट सस्ते दामों मे बाज़ार में उपलब्ध होगी. इस किट को कोरोश्योर (Corosure) नाम दिया गया है.

बाजार में किट की कीमत 650 रुपये

IIT Delhi corona kit Corosure
Image source google

मेक इन इंडिया प्रोग्राम के तहत बनी इस किट को बनाया गया है. इस टेस्टिंग किट की कीमत सिर्फ 399 रुपये है. हालांकि बाजार पहुंचते हुए इसकी कीमत 650 रुपये तक हो जाएगी. देश में जब से कोरोना वायरस का संकट आया है, उसके बाद से कई मामलों में मेक इन इंडिया को बढ़ावा दिया गया है.

Jio शुरू करेगा 5G सर्विस, मुकेश अंबानी का ऐलान भारत को बनाएंगे 2G मुक्त

IIT Delhi ने लॉन्च की टेस्टिंग किट

IIT Delhi corona kit Corosure
Image source google

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बुधवार को ‘कोरोश्योर’ टेस्टिंग किट को लॉन्च किया. IIT दिल्ली ने दावा किया है की इस किट से 3 घंटे में कोरोना वायरस की जांच का सौ फ़ीसदी रिजल्ट मिल जाएगा. IIT दिल्ली द्वारा विकसित यह तरीका ‘प्रोब-फ्री’ है. अगर यह टेस्टिंग किट है तो एक बड़ी सफलता मिल सकती है.

हर महीने बीस लाख टेस्ट

IIT Delhi corona kit Corosure
Image source google

इस किट का दाम इसलिए कम है, क्योंकि इस टेस्ट के बाद दूसरी जांच की जरूरत नहीं पड़ेगी. जिस प्रकार एंटीजन टेस्ट में नेगेटिव आने के बाद एक और टेस्ट करना पड़ता है. इस टेस्ट का नाम RTPCR है. न्यूटेक मेडिकल डिवाइस के साथ किट को बनाने की तकनीक को साझा किया जा रहा है. इसके बाद हर महीने बीस लाख टेस्ट किए जा सकेंगे.

मेक इन इंडिया प्रोग्राम

IIT Delhi corona kit Corosure
Image source google

इससे पहले कोरोना वायरस के उपचार से संबंधित सभी टेस्टिंग किट और टेस्टिंग के टूल को बाहर से मंगाया जा रहा था. धीरे-धीरे मांग बढ़ने लगी. इसको देखते हुए मेक इन इंडिया प्रोग्राम के तहत इन्हें भारत में बनाया जाने लगा. अब भारत में कई प्रकार से कोरोना वायरस का टेस्ट किया जा रहा है, जिसमें RTPCR, एंटीजन, पूल टेस्टिंग की तकनीक शामिल हैं. साथ ही पीपीई किट, मास्क, टेस्टिंग किट, वेंटिलेटर सभी भारत में ही बन रहे है.

Jio शुरू करेगा 5G सर्विस, मुकेश अंबानी का ऐलान भारत को बनाएंगे 2G मुक्त

About paras Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »